शुक्रवार, 1 जनवरी 2016

Ruskin Bond का ‘रस्टी’ वापस आया

जाने-माने लेखक Ruskin Bond लगभग एक दशक बाद अपने चरित्र ‘रस्टी’ के नए कारनामों के साथ वापस आए हैं। इस कहानी में अनाथ एंग्लो-भारतीय ‘रस्टी’ अपने दोस्तों के साथ रहस्यमय पहाड़ों की खोज में जाता है।देहरादून में अपने दादा-दादी के साथ रहने वाला रस्टी समय के साथ बड़ा होता है और लंदन जाकर एक लेखक बनता है और इस दौरान वह कई सारे रोमांचकारी कारनामों को अंजाम देता है, इनकी कारनामों की संख्या इतनी है कि किसी और के लिए उनकी कल्पना करना भी असंभव सा होता।
‘रस्टी एंड द मैजिक माउंटेन’ में रस्टी और उसके दोस्त पितांबर और पोपट एक रहस्यमयी पहाड़ की चढ़ाई करते हैं और इस यात्रा में उनका सामना समय के साथ वहां पनपे कई अंधविश्वासों और कई उत्कृष्ट कथाओं से होता है।
इस यात्रा में वह एक भूतिया घर में पड़ाव डालते हैं, एक बाघ से भिड़ते हैं और खच्चर की सवारी की एक ऐसी यात्रा करते हैं जिससे हंसहंस कर पेट में मरोड़ पड़ जाएं। खच्चर की सवारी उन्हें एक पागल रानी के महल में ले जाती है जहां रानी कौवों की हत्या के मामले की अध्यक्षता करती है। इसके अलावा एक रहस्यमयी राजकुमारी, बौनों की एक कॉलोनी और एक अनोखा संगीत पत्थर भी उनकी इस यात्रा का हिस्सा होते हैं।
इस पुस्तक का प्रकाशन पफिन बुक्स ने किया है।