रविवार, 8 फ़रवरी 2015

सलमान रुश्दी ने ज्ञानपीठ पुस्कार विजेता भालचंद्र नेमाड़े को कहा 'ओल्‍ड बास्‍टर्ड'

भारतीय मूल के लेखक सलमान रुश्दी एक बार फिर विवादों में हैं। इस बार रुश्दी ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता साहित्यकार भालचंद्र नेमाड़े को गाली देने की वजह से वे सुर्खियों में हैं।
सलमान रुश्दी ने शनिवार को अपने एक ट्वीट में ज्ञानपीठ पुस्कार विजेता मराठी साहित्यकार भालचंद्र नेमाड़े को गाली दी है। नेमाड़े ने सलमान रुश्दी के साहित्यिक रचना के महत्व पर सवाल उठाते हुए कहा था कि रुश्दी की किताबों में साहित्य जैसा कुछ भी नहीं है। दो दिन पहले ही मराठी के मशहूर साहित्यकार भालचंद्र नेमाड़े को 50वां ज्ञानपीठ पुरस्कार देने का एलान हुआ है।
सलमान रुश्दी ने इसी के जवाब में ट्वीट किया और गाली दी। उन्होंने ट्वीट पर पोस्ट किया, 'तुनुकमिज़ाज b*****d बूढ़े। अपना पुरस्कार लो और अच्छे से धन्यवाद बोलते हुए आगे बढ़ो। मुझे संदेह है कि तुमने मेरे जिस काम की आलोचना कि है कभी उन्हें पढ़ा भी है।' सलमान ने नेमाड़े के विवादास्पद बयान का लिंक भी अपने ट्वीट पर डाला। नेमाड़े ने कहा था कि बुक प्राइज-विनर रुश्दी ने मिडनाइट चिल्ड्रेन के अलावा कोई भी अच्छा काम नहीं किया जिसका साहित्यिक रूप में मूल्यांकन किया जा सके।
सलमान के गाली वाले ट्वीट सोशल साइट पर 198 बार री-ट्वीट हो चुके हैं। 171 लोगों ने इसे फेवरिट किया गया। सलमान को रिप्लाई में कई लोगों ने गाली देने के कारण उनकी जमकर आलोचना भी की है।
ट्वीट पर तीखी प्रतिक्रिया
एक ट्वीट में @AgentSaffron ने कहा, ' क्या रुश्दी आपने कभी नेमड़े की कोई किताब पढ़ी है? '
@dreamershivam ने एक ट्वीट में कहा कि सलमान रुश्दी आपका यह ट्वीट पढ़ने के बाद मुझे लग रहा है कि वह (नेमड़े) सही कह रहे हैं।